जानिए कल्पना चावला के जीवन से जुडी कुछ दिलचस्प बातें

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr +

kalpna_chavla_nasaभारत की बेटी कल्पना चावला का जन्म हरयाणा के एक हिन्दू परिवार में 17 मार्च 1962  को हुआ था। कल्पना अपने परिवार के चार भाई बहनो मे सबसे छोटी थी। कल्पना की  प्रारंभिक पढाई “टैगोर बाल निकेतन” मे हुई। कल्पना जब आठवी कक्षा मे पहुची तो  उसने इंजीनियर बनने की इच्छा प्रकट की। कल्पना एक भारतीय अमरीकी अंतरिक्ष यात्री और अंतरिक्ष शटल मिशन विशेषज्ञ थी और अंतरिक्ष में जाने वाली प्रथम भारतीय महिला थी। आइये जानते हैं कल्पना के जीवन से जुडी कुछ दिलचस्प बातें…

कल्पना बचपन से ही एक मेधावी बच्ची थी। स्कूल में कल्पना की उम्र एक साल बढ़ाकर 1 जुलाई 1961 लिखवाई गयी, ताकि एडमिशन मिल सके। जब उनकीउम्र की लड़कियां गुड्डे-गुडियों से खेलती थीं तब कल्पना हवाई जहाज़ की  फोटो खींचा करती थी।

kalpna_chavla_india1984 में टेक्सास यूनिवर्सिटी से एरोस्पेस इंजीनियरिंग में मास्टर ऑफ़ साइंस की डिग्री प्राप्त की। 1988 में नासा एम्स रिसर्च सेंटर में नौकरी के साथ-साथ पीएचडी शुरू की। 1993 में वाईस प्रसीडेंट और अनुसंधान वैज्ञानिक के रूप में ओवर्सेट मे थर्ड्स में हुई  शामिल।

kalpna_chavla_india1991 में नासा के अंतरिक्ष यात्री कॉर्प्स के लिए किया आवेदन। कल्पना चावला का पहला अंतरिक्ष मिशन 19 नवंबर 1997 को शुरू हुआ। अंतरिक्ष की प्रथम उड़ान एस टी एस 87 कोलंबिया शटल से संपन्न की। जिसकी अवधि  19 नवंबर 1997 से 5 दिसंबर 1997 थी। इन्होने पहली यात्रा के दौरान अंतरिक्ष में 372 घंटे बिताए और पूरी की पृथ्वी की 252 परिक्रमाएं।

kalpna_chavla_indiaकल्पना चावला ने अंतरिक्ष के लिए दूसरी उड़ान कोलंबिया शटल से भरी। 1 फरवरी 2003 को कोलंबिया शटल पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश करते ही टूट कर भिखर  गया। जिसमे कल्पना चावला की मृत्यु हो गयी। इस घटना में कल्पना के साथ 6 अंतरिक्ष  यात्रियों की भी मृत्यु हुई।

Share.

About Author

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz